facebook · sidharth joshi

विकिपीडिया लेख

कुछ मित्रों को परेशानी है कि विकिपीडिया पर हिंदी के लेख क्‍यों नहीं है, जबकि दूसरी भाषाओं और दूसरे देशों के लोगों ने हिंदी अथवा भारत की तुलना में कहीं अधिक माल विकी पर डाल रखा है।

वास्‍तव में विकिपीडिया पर हिंदी लिखने की जरूरत ही क्‍यों है। विकिपीडिया एक प्‍लेटफार्म है, जहां पर आप लेख डाल सकते हैं, वहां कुछ लोग इन लेखों की जांच करते हैं, ये वे लोग हैं, जिनके प्रशिक्षण अथवा अर्हता किसी विशेषज्ञ की नहीं, बल्कि मुक्‍त रूप से स्‍वघोषित जांच अधिकारी मात्र की है। हिंदी में क्‍या लिखा जाए, क्‍यों लिखा जाए, कितना लिखा जाए और क्‍या हटाया जाए, ये छोटा सा दल तय करता है।

वास्‍तव में आप विकि पर लेख डालकर केवल अपना श्रम नि:शुल्‍क उपलब्‍ध करा रहे हैं, आप उस लेखन के मालिक नहीं रहते और उस पर खसमाई कोई ऐसा समूह करता है, जिसका आपके विचारों से तालमेल होना जरूरी नहीं है। अगर साख की बात की जाए तो विकिपीडिया बहुत शुरूआती दौर में ही भ्रम का शिकार हो गया था और विरोधी विचारों को स्‍थान देने के बजाय उन्‍हीं लेखों में तोड़ फोड़ कर ऐसा माध्‍यम बन गया था, जहां विचार विशेष के लेखों को ही तरजीह दी जाने लगी। विकिपीडिया समूह के लिए काम कर एक लेखक केवल अपना वक्‍त और श्रम जाया करता है, इसका पूरा लाभ विकि खुद उठाता है। लेखक ठगा रह जाता है, बस इतना मानकर कि लेख के पीछे संपादन भाग में उसका सहयोग दिखाई देगा।

दूसरी ओर फेसबुक पोस्‍टों अथवा नोट्स की भी स्थिति है। फेसबुक पर आप जो कुछ भी डालते हैं, वह फेसबुक की संपत्ति है। आप इसका मुफ्त इस्‍तेमाल कर रहे हैं, तो आपको कोई अधिकार नहीं रहता कि क्‍या बना रहे, क्‍या दूसरों को दिखाई दे और किस कंटेंट को एक सीमा पर रोक दिया जाए। फेसबुक न केवल तय करता है, बल्कि आपसे पैसे लेकर आपके कंटेंट को आगे बढ़ाने का दावा भी करता है। यानी लिखा आपने, और उसका लाभ उठाएगा फेसबुक।

अगर आप अपने कंटेंट पर राज करना चाहते हैं तो गूगल अथवा वर्डप्रेस पर ब्‍लॉग बनाइए, एक सिंपल सी थीम लगाइए और जमकर कीबोर्ड कूटिए, जो भी कंटेंट होगा, वह आपका होगा, उस पर नियंत्रण आपका होगा और उसकी एडिटिंग आपकी होगी। आखिर में उससे जो लाभ होना होगा, वह भी आपका होगा। अगर आपका कंटेंट पूरी जानकारी लिए और सही साइटेशन लिए होगा तो उसकी साख भी अधिक होगी।

विकिपीडिया पर मत लिखिए और फेसबुक पर भी कोई अच्‍छा लिख मारा है तो उसे कॉपी पेस्‍ट कर अपने ब्‍लॉग पर ठेलिए…

Advertisements