sidharth joshi

फ्री, मुफ्त या मुक्‍त

कुछ समय पहले एप्‍पल के सीईओ टिम कुक ने कहा था कि दुनिया में कुछ भी फ्री नहीं होता…

जब आप किसी फ्री सेवा का उपभोग करते हैं तो आप उसके ग्राहक नहीं होते, बल्कि उत्‍पाद का ही भाग होते हैं।

फ्री का अर्थ मुफ्त हो या मुक्‍त…

दोनों ही स्थितियोें में प्रतिभागी प्रयोग का शिकार होंगे… चूंकि यह प्रयोग खुद प्रतिभागियों द्वारा स्‍थापित नहीं किया गया है, तो इसका भाग बने प्रतिभागी केवल प्रयोगकर्ता के इस्‍तेमाल के गिनी पिग ही बन सकते हैं, वह भी खुद प्रयोगकर्ता या उपभोगकर्ता होेने के दंभ के साथ…

‪#‎ToHellwithFree‬

Advertisements