media · sidharth joshi

मेन स्‍ट्रीम मीडिया

उम्‍मीद करता हूं कि माननीय केजरीवाल और आदरणीय लालू प्रसाद यादव को अपने प्रचार तंत्र पर सवार करवाकर मेन स्‍ट्रीम मीडिया ने अपने ताबूत में पर्याप्‍त कीलें ठोंक ली हैं। इनका प्रमुख दर्शक वर्ग इसके लिए इन्‍हें माफ नहीं कर पाएगा…

मिशनरी पत्रकारिता अर्से पहले खत्‍म हो चुकी है अब पॉपुलर पत्रकारिता बाकी थी, उसे भी कुछ मीडिया हाउस की महत्‍वकांक्षा ले डूब रही है।

इंतजार कीजिए इन प्रमुख समाचारपत्रों और न्‍यूज चैनल के ऑनलाइन संस्‍करणों पर निर्भर रह जाने के, फिर इनकी कुत्‍ता घसीटी हर कोई करेगा, तब आमने सामने और बराबरी का खेल होगा…

फिर दोहराता हूं मेन स्‍ट्रीम मीडिया एक दिन खत्‍म हो जाएगी…

सरकार कोई भी हो, इंटरनेट और संचार क्रांति को दबाने का प्रयास करेगी, लेकिन यह अपनी गति से बढ़ती रहेगी, यह हार्मोनल चेंज की तरह है, किसी के बढ़ाने से नहीं बढ़ेगी और किसी के रोकने से नहीं रुकेगी।

इल्‍ली, तितली में बदल रही है।

Advertisements