sidharth joshi

बिहार की हार

मोदी समर्थक होने के नाते मैं बिहार चुनाव की हार को स्वीकार करता हूँ और भविष्य के लिए मोदीजी और उनकी टीम से आग्रह करता हूँ की अपनी कार्यशैली में सुधार लाएं ताकि जनता में स्वीकार्यता बढे। पिछले दिनों हुई कुछ गलतियों में…

अपने समर्थकों में विश्वास खोना
सुपर 150 से मिलना
हिदुत्व के एजेंडे को दरकिनार करना
मंत्रियों के गैर जिम्मेदाराना बयान
मीडिया पर अपर्याप्त नियंत्रण
सोशल मीडिया पहरुओं की उपेक्षा
बीजेपी शाषित राज्यों में सुधार दिखाई नहीं देना
राम मंदिर की उपेक्षा
गाय के सम्बन्ध में ठोस निर्णय नहीं लेना
कश्मीर में अलगाववादियों के साथ खड़े होना

जैसी कमियां दिखाई देती हैं।

इसके अलावा अनपढ़ शिक्षा मंत्री और कांग्रेसी दिखने वाले जेटली को हरावल दस्ते में रखना भी समस्या है।

भाजपा प्रमुख दूसरी पार्टी नहीं कांग्रेस का विकल्प है। अगर कांग्रेस की तरह काम करेंगे तो जनता को नकारने में आसानी रहेगी।

हो सकता है राज्यसभा के लिए पर्याप्त कोटा हो गया हो लेकिन हार हार है और ये निराश करती है।

Advertisements