mauj

जाकिर भाई से मौज

मेरा ब्‍लॉगिंग के जरिए जाकिर जी से पुराना रिश्‍ता है। वे ज्‍योतिष की पूछ फाड़ने में लगे रहते हैं और मैं साइंस की पूछ पकड़ने की कोशिश करता रहता हूं। किसी जमाने में फ्रीडम फाइटर हुआ करते थे, फिर सर्विस फाइटर और पीएमटी और पीईटी फाइटर हुए। आजकर ब्‍लॉगर फाइटर होते हैं। ऐसे ही मैं और जाकिर अली रजनीश जी ब्‍लॉगर फाइटर हैं। और आप पाठकगण तो हम दोनों की मौज तो लेते ही रहते हैं। खैर मैं पहले क्‍लीयर कर देना चाहता हूं कि मैं जाकिर अली रजनीश जी से मौज ले रहा हूं। वे बुरा न मानें…

उन्‍होंने कुछ माह पहले मुझे जन्‍मदिन की शुभकामनाएं दी। निश्‍चय ही हृदय से दी… मैं उनका शुक्रगुजार हूं, लेकिन चार दिन से बिस्‍तर पकड़े पकड़े आखिर मैंने उन शुभकामनाओं को दोबारा देख लिया तो तगड़ा झटका लगा… आप भी देखिए…

आपकी दुआएं भी सांप के काटने जैसी लगेंगी तो सांप से कटवाकर ही खुश हो जाएंगे, कुछ भी नहीं करेंगे 🙂

Advertisements

6 विचार “जाकिर भाई से मौज&rdquo पर;

  1. आपको एवं आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनायें!

    Like

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है.